SBI Annuity Deposit Scheme: एसबीआई की स्कीम, हर महीने मिलेंगी एक्स्ट्रा इनकम, जानें पूरी जानकारी 

अगर भारत की सबसे बेहतरीन पब्लिक सेक्टर की बात की जाए तो State Bank of India (SBI) ग्राहकों के लिए बेस्ट सेविंग स्कीम पेश कर रही है। जिसमें निवेशकों को रिटर्न के समय अधिक से अधिक ब्याज के साथ धनराशि वापस की जाएगी। इस स्कीम में फायदा तो है ही साथ ही स्कीम काफी सुरक्षित है। निवेशक बिना किसी परेशानी और ज्यादा विचार किया निवेश कर सकते हैं। बाकि जुड़ी जानकारी के लिए आर्टिकल पड़े और पूरी जानकारी प्राप्त करें। ताकि आप सोच समझकर SBI की स्किमो का लाभ उठा सकें।

SBI Annuity Deposit Scheme

भारत द्वारा लांच पब्लिक सेक्टर बैंक हमारा मतलब है SBI देश के सभी नागरिकों को बेस्ट सेविंग स्कीम ऑफर दे रही है। जिसमें निवेश करने वाले नागरिकों को सुरक्षित और अधिक रिटर्न राशि दी जाएगी। साथ ही SBI नागरिकों को किस्तों के जरिए मंथली इनकम कमाने का मौका दे रही है। इस इनकम को देने के लिए SBI द्वारा पेश एन्यूटी डिपॉजिट स्कीम में आवदेन करना होगा। इसके अलावा SBI के EMI की लाभ के बारे में आपने सुना होगा। यह आपके द्वारा साल भर में जमा पैसो पर निर्भर करता है। और निवेश का कुल समय लगभग 3 साल के लिए, 5 साल के लिए, 7 साल के लिए या 10 साल के लिए निर्धारित की गई है, निवेदक इच्छा अनुसार निवेश की अवधि निर्धारित कर सकता है। 

SBI की बचत स्कीम में निवेशक चाहे तो एक साथ पूरी निवेश राशि जमा कर सकता है या किस्तों में निवेश करने की सुविधा भी उपलब्ध है। निवेशक अपनी सुविधा अनुसार निवेश के किसी भी विकल्प को चुन सकता है। EMI में जमा की गई राशि और ब्याज को जोड़कर रिटर्न प्राप्त होता है। ब्याज 3 महीने में जुड़ता है और हर महीने रिटर्न में छूट दी जाती है। 

इसे भी देखें:- पोस्ट ऑफिस FD स्कीम में 1 लाख रूपये जमा करने पर मिलेंगे इतने

SBI सालाना जमा योजना की विशेषताएं

  1. एसबीआई सालाना जमा योजना कि किसी भी शाखा में निवेश करने की सुविधा नागरिकों को दी गई है।
  2. किसी भी शाखा में निवेश करने की राशि कम से कम 1 हजार रुपए निश्चित है  इससे कम राशि से निवेश शुरू नहीं किया जा सकता।  
  3. कम से कम निवेश की राशि तो निश्चित है पर ज्यादा से ज्यादा कितने ही भी पैसे निवेश किए जा सकते हैं यानी कि निवेशक पर कोई पाबंदी नहीं है कि वह अधिकतम कितनी राशि जमा करेगा। 
  4. यदि किसी कारणवश निवेदक रिटर्न प्राप्त करने के लिए उपलब्ध नहीं है तो इस स्थिति में नॉमिनी रिटर्न प्राप्त कर सकता हैं।
  5. स्कीम में जब निवेदक निर्धारित पूर्ण निवेश राशि जमा कर देगा। उसके बाद हर महीने इनकम दी जाएगी जिसमें प्रिंसिपल राशि और ब्याज दर दोनों का हिस्सा जुड़ा होगा।
  6. स्कीम में निवेशक को पासबुक दिया जाएगा।
  7. SBI की इस स्कीम में निवेश का टाइम पीरियड 36, 60, 84 या 120 महीने के बीच दिया गया है, इन विकल्पों मे से व्यक्ति निवेश पीरियड खुद चुन सकते हैं।